Type Here to Get Search Results !

Memory से आप क्या समझते हैं? Primary Memory और Secondary Memory में अंतर

Updated On : 11 February 2024 by Ashok Nayak

"Memory" शब्द के दो प्रमुख अर्थ हैं:

1. मन की याददाश्त (या cognitive memory) - यह मानव मन की याददाश्त को संदर्भित करता है, जिसमें हम जीवन के घटनाओं, ज्ञान, और अनुभवों को स्मृति के रूप में स्थानांतरित करते हैं।

2. कंप्यूटर संदर्भ में, "मेमोरी" शब्द विभिन्न प्रकार की डेटा स्टोरेज को संदर्भित करता है।

कंप्यूटर मेमोरी को दो बड़े वर्गों में विभाजित किया जा सकता है: Primary Memory और Secondary Memory।

1. Primary Memory:

  •    - Primary Memory को Volatile Memory भी कहा जाता है, क्योंकि जब कंप्यूटर को बंद किया जाता है, तो इसमें स्टोर किया गया डेटा हो जाता है।
  •    - इसमें कंप्यूटर के प्रमुख स्मृति स्थान हैं, जिनमें समय के साथ तत्काल डेटा पहुंचने और उसे प्रोसेस करने की क्षमता होती है।
  •    - Primary Memory के उदाहरण हैं RAM (Random Access Memory) और Cache Memory।

2. Secondary Memory:

  •    - Secondary Memory को Non-volatile Memory भी कहा जाता है, क्योंकि जब कंप्यूटर को बंद किया जाता है, तो इसमें स्टोर किया गया डेटा स्थायी रूप से बना रहता है।
  •    - इसमें डेटा को लंबे समय तक स्टोर किया जा सकता है, और कंप्यूटर को उसे प्राप्त करने की आवश्यकता होती है जब उसे आवश्यकता होती है।
  •    - Secondary Memory के उदाहरण हैं Hard Disk Drives (HDDs), Solid State Drives (SSDs), Optical Drives (जैसे कि CD, DVD), और Flash Drives (USB ड्राइव्स)।

इस प्रकार, Primary Memory और Secondary Memory में मुख्य अंतर यह है कि Primary Memory तत्काल डेटा को संग्रहित करती है, जबकि Secondary Memory डेटा को लंबे समय तक संग्रहित करती है।

Primary Memory और Secondary Memory के बारे में विस्तार से:

कंप्यूटर तकनीकी क्षेत्र में विभिन्न प्रकार की मेमोरी का महत्वपूर्ण रोल निभाती है। Primary Memory और Secondary Memory दोनों ही कंप्यूटर की विभिन्न कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं, परन्तु इनके बीच में काफी अंतर है। इस लेख में, हम इन दोनों प्रकार की मेमोरी को विस्तार से विश्लेषण करेंगे और उनके उपयोग, कार्यक्षमता, और अन्य विशेषताओं को समझेंगे।

Primary Memory:

Primary Memory को "रैन्डम एक्सेस मेमोरी" (RAM) के रूप में भी जाना जाता है। यह कंप्यूटर की सीधी एक्सेस की सम्भावना के लिए प्रमुख स्थायी स्मृति का उपयोग करती है। RAM एक दूसरे संदर्भित कंपोनेंट्स के साथ काम करती है और तत्काल डेटा और आदेशों को प्रोसेस करती है। यह कंप्यूटर के प्रारंभिक बूटिंग प्रक्रिया के दौरान भी उपयोग किया जाता है, जब कंप्यूटर को ऑपरेटिंग सिस्टम और अन्य प्रोग्रामों को लोड करने की आवश्यकता होती है। RAM का एक अहम विशेषता यह है कि यह तत्काल डेटा एक्सेस की अनुमति देता है, जिससे कंप्यूटर की कार्यक्षमता और प्रतिक्रिया गति में सुधार होता है।

दूसरी ओर, Cache Memory भी Primary Memory का हिस्सा है और यह पिछले तत्काल एक्सेस किए गए डेटा को संग्रहित करता है। यह डेटा को तत्काल एक्सेस करने के लिए CPU के पास रखा जाता है ताकि कार्यक्षमता में वृद्धि हो सके। Cache Memory को आमतौर पर L1, L2, और L3 कैचेस में विभाजित किया जाता है, जो CPU के पास स्थित होते हैं। L1 कैचे सबसे छोटा होता है, लेकिन सबसे तेजी से एक्सेस किया जा सकता है, जबकि L3 कैचे सबसे बड़ा होता है, लेकिन सबसे धीमा होता है।

Secondary Memory:

Secondary Memory, किसी भी संदर्भ में, कंप्यूटर की ज्यादातर स्थायी स्मृति का हिस्सा है और इसमें डेटा को संग्रहित किया जाता है जिसे कंप्यूटर तत्काल उपयोग में नहीं लेता है। यह कंप्यूटर के बूट आउट प्रक्रिया के लिए उपयोग में नहीं लाया जाता है बल्कि इसका प्रयोग संग्रहित डेटा को स्थायी रूप से संग्रहित करने के लिए किया जाता है, जिसका उपयोग बाद में उपयोग के लिए किया जाता है।

Primary Memory vs. Secondary Memory:

Primary Memory और Secondary Memory के बीच अंतर को समझने के लिए यह महत्वपूर्ण है कि प्राथमिक याददाश्त तत्काल डेटा को संग्रहित करती है, जबकि सेकेंडरी याददाश्त डेटा को लंबे समय तक संग्रहित करती है। Primary Memory विपरीत Secondary Memory तत्काल एक्सेस नहीं कर सकती है, लेकिन यह उपयोग के लिए तत्काल उपलब्ध डेटा को संग्रहित करने में सक्षम है। Secondary Memory दिया गया डेटा को लंबे समय तक संग्रहित कर सकती है, लेकिन इसे तत्काल एक्सेस करने के लिए लंबा समय लगता है।

Primary Memory और Secondary Memory के अन्य विशेषताएँ भी हैं। Primary Memory का आकार छोटा होता है जबकि Secondary Memory का आकार बड़ा होता है। Secondary Memory अधिकतर कंप्यूटर और अन्य डिवाइसों में स्थानांतरित होती है, जबकि Primary Memory केवल कंप्यूटर में होती है।

उपयोग:

Primary Memory और Secondary Memory का प्रयोग कंप्यूटर के विभिन्न कार्यों में होता है। Primary Memory उपयोगकर्ता द्वारा चलाई जा रही प्रोग्रामों और प्रोसेसेज के लिए उपयोग किया जाता है, जबकि Secondary Memory उपयोगकर्ता के डेटा, फ़ाइलें, और सामग्री को संग्रहित करने के लिए उपयोग किया जाता है। Primary Memory के बिना, कंप्यूटर को किसी भी कार्य को करने में समर्थ नहीं होता, जबकि Secondary Memory के बिना कंप्यूटर को लंबे समय तक काम नहीं कर सकता है।

निष्कर्ष:

इस लेख में, हमने Primary Memory और Secondary Memory के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की है, जिन्हें दोनों ही कंप्यूटर की स्थायी स्मृति का हिस्सा माना जाता है। Primary Memory की विशेषताएँ और उसका उपयोग अन्य Secondary Memory के बराबर होता है, लेकिन इनका उपयोग और कार्यक्षमता में विशेषता होती है। दूसरी ओर, Secondary Memory डेटा को लंबे समय तक संग्रहित करती है और इसे बाद में उपयोग के लिए संग्रहित करती है, जबकि Primary Memory तत्काल डेटा को संग्रहित करती है और उसे कंप्यूटर की कार्यक्षमता के लिए उपयोग करती है। यह दोनों ही प्रमुख मेमोरी प्रकार कंप्यूटर के सही और सुचारु ऑपरेशन के लिए आवश्यक हैं।

Final Words

So friends, how did you like our post? Don't forget to share it with your friends using the sharing buttons below the post. Apart from this, if there is any problem in between then do not hesitate to ask in the comment box. We will be happy to assist you. We will keep writing more posts related to this. So don't forget to bookmark (Ctrl + D) our blog “Study Toper” on your mobile or computer and subscribe us now to get all posts in your email.

If you liked this post then do not forget to share it with your friends. You can help us reach more people by sharing it on social networking sites like WhatsApp, Facebook or Twitter. Thanks!

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad